ज्ञान और मेहनत का फल – दो भाइयो की कहानी

two brothers story in hindi
Share Button

ज्ञान होना बहुत ही जरुरी है , बिना ज्ञान के कोई भी काम नहीं हो सकता है | आज मे आप को ऐसे ही एक कहानी बता रहा हु | मनोज और संजय तो भाई थे , संजय महेशा मेहनत करता रहता था और मनोज हमेशा जीन्दगी मे बस पैसे की पीछे ही भागता रहता था | मनोज का मन भी पढ़ाई मे बहुत ही कम लगता था और उसने बारहवी के बाद पढाई छोड़ कर नौकरी कर ली , लेकिन संजय हमेशा अपनी पदाई मे लगा रहता था | समय बीतता गया और संजय ने ग्रेजुएशन कर लिया , लेकिन संजय को कोई नौकरी नहीं मिल पा रही थी | अब मनोज रोज उसको ताने सुनाता की तुम से अच्छा तो मे ही हु और मैंने सही किया अपनी पढाई छोड़ करके | यह बात सुनकर स्नाज्य को बहुत ही बुरा लगता था और वह हमेशा यही सोचता रहता था की एक दिन मे तुम्हारी इस बात का जवाब जरुर दूंगा |

 वो दुःख वाले रात जब कोई साथ नहीं देता है – एक लड़की की कहानी

जब काफी टाइम हो गया तो संजय ने सोचा क्यों न अपना ही कुछ स्टार्ट करे | संजय पढ़ा – लिखा तो था ही उसने अपना एक छोटा सा स्कूल खोला और उसमे ही खूब मेहनत करने लगा | पहले तो मजोज को लगा यह अब कुछ नहीं कर पायेगा , मनोज दस हज्जार महीना कमाता था | लेकिन संजय अभी अपने स्कूल से बड़ी मुस्किल से ही अपना खर्चा नीकाल पाता था | कुछ और समय बीता तो संजय का स्कूल और बढ़ने लगा और इधर मनोज की नौकरी छूट गया और वह बहुत परेशान होने लगा | ज्यादा पढ़े न होने के कारण मनोज को कोई भी नौकरी नहीं देता था , लेकिन संजय का स्कूल अब इतना बड़ा हो गया था की उसने मनोज को अपने स्कूल मे क्लर्क की नौकरी दे दिया | अब दोनों साथ मे स्कूल मे जाते , लेकिन संजय का स्कूल मे बहुत ही रेस्पेक्ट था और वह प्रिंसिपल भी था स्कूल का , जबकी मनोज को यह बात समझ आ चुकी थी की पढ़ाई कभी भी बेकार नहीं जाती है | इस कहानी से हम लोगो को यही सीख मिलता है की जब तक आप के पास ज्ञान नहीं होगा तबतक आप एक सफल आदमी नहीं बन सकते हो |

पंडित जी की महानता जो दिल को छू गयी

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment