राजा अजीत सिंह के बेटी की कहानी – Story of King Ajit Singh’s daughter

Maharaja_Ajit_Singh_of_Khetri
Share Button

राजकुमारी रतना राजा अजीत सिंह की एकलौती पुत्री थी | वह अपनी पुत्री रतना के लिए एक सुयोग्य वर की तलाश कर रहे थे | राजकुमारी रतना बहुत की पढी और कुशल थी , अनेक राजकुमार उनसे विवाह करना चाहते थे | कई राजकुमारों ने तो राजा के पास शादी का सन्देश भी भेज दिया |
एक दिन राजा ने अपनी बेटी से बोला – बेटी अब आप बड़ी हो गयी है और आप के विवाह का उम्र हो गया है , बहुत लोग तो तुम्हारे हुनर को देख कर विवाह का सन्देश तक भेज दिया | तुम कहो तो मे उन लोगो से बात करू |

पैसा ही सब कुछ नहीं है – दो दोस्तों की कहानी

इस पर राजकुमारी ने बोला – पिता जी मे एक इमानदार और योग्य आदमी से विवाह करना चाहती हु ,चाहे वह राजकुमार हो या आम इंसान हो |क्युकी अगर वह योग्य है तो अपने आप को उपर उठा लेगा | राजकुमारी ने आगे बोला – मे सिर्फ तीन सवाल करूंगी जो उसका जबाब देगा उससे ही मे विवाह करूंगी |
राजा ने कहा ठीक है और उसने पुरे नगर मे मुनादी करवा दिया की राजकुमारी के स्वयम्बर मे राजकुमार से लेकर आम आदमी भी सामिल हो सकता है |
यह सुनकर विवाह योग्य नवयुक और राजकुमार आ गए |
राजकुमारी रतना वहा आयी और सब को नमस्कार किया और बोला मे तीन सवाल करूंगी जो सही जवाब देगा उससे ही में विवाह करूंगी और अगर किसी ने गलत जबाब दिया तो उसको बीश कोड़े मारे जायेंगे | यह शर्त सुनकर सब लोग वहा से चले गए , लेकिन दो राजकुमार और एक साधारण लड़का बैठा था |
अब राजकुमारी ने अपना सवाल बोला – दरिद्र कौन है , धनी कौन है और जीवित रहते हुवे मृत कौन है |
राजकुमारी के सवाल सुनकर दोनों राजकुमार कुछ बोल नहीं रहे थे , उसके बाद जो आम लड़का बैठा था उसने बोला मे जबाब दूंगा |
राजकुमारी ने बोला – सोच लेना अगर एक भी जवाब गलत हुवा तो बीश कोड़ो की मार पड़ेगी |
युवक ने कहा – कोई बात नहीं अगर जवाब सही नहीं हुवा तो आप के प्यार मे कुछ भी करने को तैयार हू |

एक फ़कीर की कहानी

युवक ने जबाब दिया पहले प्रशन का – जिसकी चाह असीमित है , वह दरिद्र है |
फिर युवक ने दूसरे प्रशन का उत्तर दिया- जो पूर्ण रूप से संतोषी है वह धनी है |
राजकुमारी ने कहा – आप का दोनों जबाब सही है , अब युवक ने अंतिम सवाल का जबाब दिया – जो उद्याम्हीन और निराश आदमी मृत आदमी के सामान है |
राजकुमारी बहुत ही खुश थी क्यों की युवक ने सारे जबाब सहे से दे दिया था , इस पर राजा ने भी बेदांत नामक इस युवक को अपना दामाद स्वीकार कर लिया |

इस कहनी से हमें यही सीख मिलती है की अगर आदमी गुणी है तो वह सब कुछ हासिल कर लेगा |

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment