सोच बदल देने वाली कहानी

best children story in hindi
Share Button

बहुत समय पहले की बात है , दो दोस्त थे और वो एक दूसरे से बहुत ही ज्यादा प्यार करते थे । राहुल दस साल का था और राज सात साल का था , दोनों हमेसा एक साथ ही घूमने जाया करते थे । एक दिन की बात है दोनों घूमने गए थे की उनको एक कुँवा दिखा दोनों बहुत ही तेजी से उसको देखने के लिए भागे । फिर क्या था दोनों वहाँ पर पहुंच गए और कुवा में झांककर देखने लगे । यह बहुत ही सुन सान जगह थी , जहा पर दूर – दूर तक कोई नहीं था सिर्फ ये दोनों दोस्त ही थे । दोनों कुवा में झांक ही रहे थे की राहुल का पैर फिसल गया और वह कुवा में गिर गया । राहुल को कुवा में गिरा देख राज जोर – जोर से चिल्लाने लगा और बोला राहुल को कोई तो बचा लो । जब कोई नहीं आया तो राज को लगा राहुल अब डूब जायेगा , उसने देखा की कुवा के बगल में एक बाल्टी रस्से से बाँधी रखी है । उसने तुरंत उस बाल्टी को कुवा में फेक दिया और बोला राहुल इसको पकड़ लो । राहुल ने भी उस बाल्टी को पकड़ लिया और राज जोर – जोर से रस्सी को अपनी तरफ खींचने लगा और बहुत देर मेहनत के बाद राहुल बहार आ ही गया । फिर दोनों ने एक दूसरे को गले से लगाया और बोला घर पर चल कर सबको यह बात बताते है । फिर क्या था दोनों घर पर आ गए और सब लोगो को बताने लगे , फिर क्या था दोनों की बात सुनकर पुरे मुहल्ले वाले हसने लगे और बोले – राज तो इतना छोटा है यह राहुल को कैसे बचा सकता है ।

वही पर एक बहुत ही पुराने दादा जी थे जो इन दोनों दोस्तों की बात को बहुत ही ध्यान से सुन रहे थे । जब सब लोग चुप हो गए तो उन्होंने ने बोला यह लड़के सही बोल रहे है । सब लोग हैरान होकर दादा जी को देखने लगे और बोले कैसे ?
फिर दादा जी ने बताया की जब राहुल डूब रहा था तब वहाँ दूर – दूर तक कोई भी नहीं था , और यही बात राज को समझ आ गयी थी की अब राहुल को सिर्फ वही बचा सकता है और उसने पूरी कोसिस भी किया और अंत में सफल भी हो गया । दादा जी की बात सुनकर सब लोग बहुत ही खुश हो गए और राज को खूब प्यार दिया ।

दोस्तों इसी तरह हमारी लाइफ में भी होता है की हम लोग कुछ काम से डर जाते है की हम नहीं कर पाएंगे लेकिन अगर कोसिस किया जाये तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं है ।

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment