राजा और चोर की कहानी | A King Motivational Story

Share Button

बहुत समय पहले की बात है , एक राजा के राज्य में चोरी हो गयी और उसको पता ही नहीं चला | कुछ दिन बीत गए तो राजा को पता चला की उसी के राज्य में का कोई है जिसने इस चोरी को किया है | राजा को बहुत ही गुस्सा आया और उसने बोला अगर आज वो मुझको मिल जाये तो मैं उसको मार डालूंगा | लेकिन राजा का मंत्री बहुत ही चालाक इंसान था , उसने राजा से बोला राजन आप क्रोध मत करे और दिमाग से काम ले तभी कुछ हो सकता है | राजन पूरी बात को समझ नहीं पाए और बोले मंत्री जी आप क्या कहना चाहते है , फिर चालाक मंत्री ने बोला मुझको कुछ लोगो पर संदेह है |

लेकिन उनको पकड़ने के लिए मुझको आप के आदेश की जरुरत है | राजा ने बोला आप को जो करना है करो , मुझको बस वह चोर चाहिए था | मंत्री ने बोला मुझको दस लोगो पर संदेह है , मैं उनको आप के सामने लेकर खड़ा कर दूंगा , लेकिन चोर कौन है यह आप को ही पकड़ना पड़ेगा | राजा ने कहा ठीक है कल सुबह तक वो सारे लोग चाहिए जिन पर आप को संदेह है , रात हो चुकी है लेकिन राजा को नींद नहीं आ रही थी और समझ में भी नहीं आ रहा था की क्या करे | कुछ देर सोचने के बाद राजा के दिमाग में एक विचार आया और वह खुश होकर सो गया | अगले दिन सुबह – सुबह उन दस लोगो को राजा के सामने लाया गया |

राजा ने दस लकड़ी का डंडा मंगवाया और एक – एक डंडा सबको दे दिया और बोला तुम लोगो में जिसने भी चोरी किया होगा कल तक उसका डंडा अपने आप ही दो इंच छोटा हो जायेगा | राजा की यह बात सुनकर सब लोग दर गए , फिर राजा ने बोला आप लोग अपने घर जाये और कल सुबह फिर आना | यह देख राजा का मंत्री बहुत ही गुस्सा हुवा और बोला आप क्या बोल रहे है , डंडा कैसे छोटा होगा | कोई जादू तो नहीं है न , यह सुनकर राजा मुस्कुराया और बोला मंत्री जी आप कल देख लेना आप को खुद ही समझ में आ जायेगा |

सब लोग अपने घर में जाकर सो गए , लेकिन जो चोर था वो सो नहीं पा रहा था कर बार – बार अपने डंडे को देख रहा था की कब बड़ा होगा और वह उसको काट देगा | आधी रात हो गयी और डंडा छोटा नहीं हुवा , फिर क्या था उसको बहुत ही तेज नींद आ रही थी और वह डंडा को काट करके सो गया और सोचा की सुबह जब बढ़ेगा तो फिर से उतना ही हो जायेगा | अगले दिन जब सब लोग अपना डंडा लेकर पहुंचे तो राजा ने सबको अपने डंडे सामने करने को कहा , उसके बाद जो चोर था उसने तो डंडा काट दिया था और राजा समझ गया की यही चोर है | इसके बाद राजा ने उसको कड़ी से कड़ी सजा दिया , राजा की इस महानता को देख उसका मंत्री बहुत ही खुश हो गया |

इस कहानी से हम लोगो को यही सीख मिलता है की अगर अपनों के साथ गलत करोगे तो कभी भी आगे नहीं जा सकते हो |

 कैसे दुसरो के लिए जीना सीखे – बदलाव एक अनोखी कहानी

 एक राजा के कीमती हार की कहानी

 जाने गुरु पूर्णिमा क्यों मनाया जाता है

 जब लगातार असफलता मिल रही हो तो क्या करे

Share Button
loading...

Related posts

5 thoughts on “राजा और चोर की कहानी | A King Motivational Story

  1. Nice information sir thanks for sharing

Leave a Comment