नीम की डाल – एक शैतान बालक की कहानी

devil boy story
Share Button

श्याम बहुत ही शैतान और गुसयल लड़का था , किसी से सीधे मुंह बात नहीं करता था | उसके पिता को अक्सर उसकी ऐसी शिकायत सुनने को मिलती रहती थी | वह सब से बुरा बर्ताव करता था और बात – बात पर गुस्सा करता और दूसरों से लड़ाई और मार -पीट करता था |

इस तरह की शिकायतों से उसके पिता तंग आ चुके थे , एक दिन उन्होंने अपने लड़के को बुलाया और घर के आँगन मे लगे नीम के पेड़ से उसे एक हरी और एक सुखी डाली तोड़ कर लाने को कहा , फिर दोनों डालियो को श्याम को दे दिया और बारी – बारी से तोड़ने को कहा | सुखी डाल तो उसने एक ही झटके मे तोड़ दिया लेकिन हरी डाल मुर गई लकिन टूटी नहीं |

श्याम के पिता उससे बोले- देखो बेटा , सुखी डाल कठोर थी और टूट गयी , लेकिन हरी डाल नरम थी और टूटी नहीं | इसी प्रकार जो लोग कठोर और गुसल होते है , जिन मे नरमी और धीरज नहीं होता है , वे बहुत ही जल्दी टूट जाते है | लकिन जो लोग नरम होते है और गुस्सा काम करते है , उन लोगो मे परेशानिओ का सामना करने की ताकत बहुत ही जादा होती है | उस दिन के बाद श्याम सुधर गया और सब से मिलकर रहने लगा |

Share Button

loading...
loading...

Related posts

One thought on “नीम की डाल – एक शैतान बालक की कहानी

  1. Reading this makes my desioicns easier than taking candy from a baby.

Leave a Comment