पैसा ही सब कुछ नहीं है – दो दोस्तों की कहानी (Money is not everything – the story of two friends )

two friends
Share Button

बहुत समय पहले की बात है , दो ऐसे दोस्त थे जो एक दूसरे से बहुत ही प्यार करते थे | दोनों बचपन से ही साथ रहते थे , वक़्त बीतता चला गया और दोनों बड़े हो गए | एक नाम करन था और दूसरे का नाम रमन था , कारन बहुत ही गरीब परिवार का हिस्सा था | जबकी उसका दोस्त रमन बहुत ही अमीर घर से था | दोस्तों बचपन और जवानी दोनों ही जिन्दगी के अजीब पहलु है , बचपन  में सब के पास टाइम होता है , लेकिन जैसे -२ इंसान बड़ा होता जाता है वह अपने कामो और जिमेदारियो में खो जाता है और पता ही नहीं चलता की जिन्दगी कब खत्म हो गयी | इसी तरह दोनों दोस्त भी बहुत कम मिलते थे | Hindi Motivational Stories
समय बीतता गया और एक दिन करन की तबियत बहुत ही खराब हो गयी और वह घर पर ही लेटा था | दो – तीन दिन बाद रमन को पता चला और वह करन से मिलने आया और कुछ पैसा नीकाल कर दे दिया | उसने उस से पूछा तक नहीं की तुम अब कैसे हो , बस पैसा देकर बोला अपनी दवा करा लेना | करन को बहुत ही दुःख हुवा , वह मन ही मन बहुत उदास हो गया | धीरे -२ करन सही हो गया और फिर से अपने काम पर जाने लगा और जब पैसे इकठा कर लिया तो रमन से मिलने आया और उसके पैसे वापस कर दिया |लेकिन वह इस बात को भूल नहीं पाया था की का रमन ने उसके साथ कैसा किया था | Hindi Moral Stories
वक़्त बीतता गया और एक दिन रमन की तबियत खराब हो गयी और उसको डॉक्टर ने आराम करने को बोला | करन को जब यह पता चला तो वह अपना सारा काम – धाम छोड़ कर रमन के पास आ गया और रात – दिन जागकर उसकी सेवा करने लगा | वह तबतक वहाँ से नहीं गया जबतक रमन पूरी तरह ठीक नहीं हो गया | रमन जब ठीक हो गया तो करन से मिलने आया और बहुत ही सर्मिन्दा था और बोला तुम ने तो मेरा पैसा वापस कर दिया , लेकिन में तुम्हारा यह परोपकार कैसे चुकाऊंगा | उस दिन से उसको पता चल गया था की पैसा ही सब कुछ नहीं होता | करन ने उसको गले से लगाया और बोला मै यही चाहता था की तुम को इस बात का आभाष हो और तुम को आभाष हो गया | मै बहुत ही खुश हु आज |
तो दोस्तों इस कहानी से हम लोगो को यही सीख मिलती है की लाइफ में पैसा ही सब कुछ नहीं होता है | आप को यह कहानी कैसे लगी कमेंट कर जरूर बताए |

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment