मन के हारे हार है , मन की जीते जीत – Hindi Motivational story

Share Button

दोस्तों कहते है जिन्दगी में सफल होना है तो खुद पर भरोसा रखो | यह मानव जीवन में सुख और दुःख दोनों समान रूप से आते है . इसलिए हम लोगो को अपनी असफलता से डरने की जरुरत नहीं है बल्कि उसका डट कर सामना करने की जरुरत है | पवन एक छोटा बच्चा जो की अभी आठवी क्लास में पढ़ रहा है , वह अपने क्लास का सबसे कमजोर स्टूडेंट था | सब लोग उसको कमजोर ही समझते थे , पवन के पापा बहार नौकरी करते थे , लेकिन इस बार वह पवन के एग्जाम से पहले ही घर आ गए थे | एक दिन वह पवन को लेकर उसके स्कूल पहुंचे तो उन्होंने अपने लड़के के बारे में कुछ टीचर से पूछा सब लोगो ने एक ही बात बोला – आप का बच्चा पढ़ने में बहुत ही कमजोर है |

असफलता ही सफलता की जननी है

पवन के पापा घर आये और सोचने लगे उनका लड़का ऐसा क्यों है ?
पवन जब घर पर आया तो उसके पापा ने पूछा- तुम पढ़ने में इतना कमजोर क्यों हो |
पवन ने बोला- सब लोग यही बोलते है की में पढ़ने में बहुत ही कमजोर हु |
उसके पापा ने कहा – सब लोग गलत बोलते है , तुम भी अपने क्लास में टॉप कर सकते हो | यह सुनकर पवन को थोड़ा अच्छा लगा और वह अपने पापा के साथ ही खूब मेहनत से पढ़ाई करने लगा |

 

एग्जाम में वह खूब मेहनत करने लगा और उसका सारा पेपर बहुत ही अच्छा गया | कुछ दिन बाद जब रिजल्ट आउट हुवा तो सब लोग चौक गए , क्युकी पवन ने इस बार अपने क्लास में पहला पोजीशन लाया था |

डाकू से सीख – एक बालक की कहानी

इस कहानी से हम लोगो को यही सीख मिलती है की हम लोग कोई ही काम करने से पहले ही अपने माँ में दर पैदा कर लेते है और सोचते है की यह काम हमसे नहीं ो पायेगा | हम लोगो को कोसिस करना कभी भी नहीं छोडना चाहिए , कौन क्या कहता है , इससे कोई टेंशन मत लो बस मन लगाकर अपना काम करो , आप जरूर सफल होंगे |

Share Button
loading...

Related posts

2 thoughts on “मन के हारे हार है , मन की जीते जीत – Hindi Motivational story

Leave a Comment