कैसे पैसे की लालच इंसान को पागल बना देती है

cute girl and her father story
Share Button

हम सब लोग आज बहुत ही तनाव में जीवन बीताते है और हमेसा अपने जीवन को लेकर चिंता में पड़े रहते है की जीवन में क्या होगा | लेकिन इन सब के बीच में हम यह भूल जाते है की जीवन सिर्फ और सिर्फ पैसा कमाने के लिए नहीं bana है , लेकिन आज कल के लोग न इस बात को समझ नहीं पा रहे है |
हर कोई यही चाहता है की सफल कैसे हो और वो भी ज्यादा पैसा कमाने वाली सफलता कब मिलेगी | कोई यह नहीं कहता है की बिना पैसा के भी कुछ हो सकता है | आज मै आप को यह बात बताऊंगा की मानवता भी कुछ चीज होती है , आदमी पैसा कमाने मे इतना बिजी है की उसके अगल – बगल क्या हो रहा है किसी को भी पता नहीं है और न ही वह कोई मतलब रखना चाहता है |

कभी न भूलो जिंदगी की ये बाते

हम सब लोगो को मानव जीवन मिला है कुछ अच्छा करने के लिए , लेकिन हम सब लोग अपने ऐसो आराम के लिए दिन रात बस पैसा के बारे मे सोचते है | एक पिता आज के जमाने मे इतना बिजी है की अपने बच्चो के साथ टाइम पास नहीं कर सकता है | आज मै आप को एक चोटी सी लेकिन बहुत ही प्यारी कहानी सुना रहा हू , जिसको सुकर आप जरुर एक बार सोचेंगे |

 कैसे अपने अंदर की मानवता को जगाए

सुमन अभी पाच साल की लडकी है वह अपने पापा से बहुत प्यार करती थी और उसके पापा भी | सुमन के पास एक गुलक था जिसमे वह अपने पापा के दिए हुए पैसे को जमा करती थी | सुमन अपने पापा के साथ टाइम बिताना चाहती थी , लेकिन उसके पापा के पास तो टाइम ही नहीं था | एक दिन सुमन ने अपने पापा से पूछा – आप इतना काम क्यों करते हो ? तो उसके पापा ने जवाव दिया की बेटा इस काम को करने का मुझको पैसा मिलता है | सुमन ने पूछा आप एक घंटे मे कितना कमा लेते हो | उसके पापा ने बोला यही करीब दो सौ रुपया , सुमन अपने गुलक के पास गयी और उसमे से दो सौ रूपया निकाला और बोला ये लो दो सौ रुपया और आप एक घंटा मैरे साथ खेल सकते हो | अपनी बेटी की यह बात सुनकर उसके पापा के आँखों मे अंशु आ गया और उसने अपनी बेटी को गले से लगाया और बोला मुजको माफ़ कर दो बेटा |

दोस्तों इसी तरह हम लोग भी इतना बिजी है की हमारे अपनों के लिए भी हमारे पास टाइम नहीं है | अगर यह पोस्ट आप लोगो को सही लगा हो तो शेयर करना ना भूले ||

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment