एक बहादुर सिपाही की अधूरी प्रेम कहानी जो आप को रुला ही देगी

Share Button

राजेश बहुत ही अच्छा लड़का था और अपने गावं में ही बहुत मेहनत से काम करता था | उसका एक ही सपना था की बड़ा होकर सिपाही बनना है और इसके लिए वह दिन रात बहुत ही मेहनत करता था | उसके गावं से कुछ दूर सुमन का घर था , जिससे वह बहुत ही प्रेम करता था और हमेशा यही सोचा करता था की जब वह देश का फौजी बन जायेगा तब वह सुमन से शादी कर लेगा |
सुमन भी राजेश से बेपनाह प्यार करती थी और उससे ही शादी करना चाहती थी | वक्त बीतता चला गया और एक दिन राजेश फौज मे भर्ती हो गया अब वह अपनी ट्रेनिंग पर जाने की प्लानिंग कर रहा था | तभी सुमन आयी और रोने लगी और बोली मैरे पिता जी मेरी शादी किसी और से करना चाहते है तुम उनसे कब बात करोगे | राजेश ने बोला – सुमन तुम रोवो मत ट्रेनिंग से आने के बाद मे तुम्हारे पापा से जरुर बात करूँगा और तुम से शादी भी कर लूँगा , लेकिन तुम रोना बंद कर दो अभी नहीं तो मे ट्रेनिंग पर नहीं जाऊंगा | सुमन ने बोला – ठीक है , मैं तुम्हारा इतंजार करूंगी मरते दम तक |

एक अंधे पति और पत्नी की प्रेम कहानी

राजेश अपनी ट्रेनिंग के लिए नीकल गया और वहा जाकर बहुत ही बिजी हो गया , क्युकी हम लोगो को भी यह पता हे की फौज की ट्रेनिंग बहुत ही कठिन होती है | सुमन हमेशा राजेश के फ़ोन का इंतज़ार करती थी , लेकिन राजेश ने फ़ोन नहीं किया | राजेश की ट्रेनिंग खतम हो गयी और वह बहुत ही खुश था की अब वह सुमन को जाकर बहुत ही बड़ा सरप्राइज देगा | लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था | जिस दिन राजेश की ट्रेनिंग खत्म हुयी उसके कुछ दिन पहले ही कुछ आतंकी हमला हो गया था , इसके बाद सभी ट्रेन फौजी को बॉर्डर पर भेज दिया गया | जिसमे राजेश का भी नाम था , पहले तो राजेश थोरा निराश हो गया लेकिन जब उसको अपना सपना याद आया तो वह बहुत ही खुश हुवा की जो वह बड़ा होकर करना चाहता था , आज वो दिन आ गया है और हम भारत माता की सेवा करेंगे |

बॉर्डर पर लडाई सुरु थी और राजेश वहा पहुच गया और जाते ही कुछ दुश्मनो को मार गिराया | राजेश लडाई कर रहा था तभी एकदुश्मन ने पीछे से राजेश को गोली मार दिया , लेकी राजेश ने हीम्मत करके उसको भी मार गिरा दिया | राजेश को कई गोली लग गयी और उसने वही पर अपना दम तोड़ दिया |

एक राजा की प्रेम कहानी

मरने से पहने राजेश की आँखों मे अंशु थे और एक ही बात का गम था की सुमन कैसे रहेगी | इधर जब सुमन को पता चला तो वह तो पागल हो गयी और अपने आप को मारने की कोसिस करने लगी | लेकिन जो किस्मत मे लिखा हो उसको हम क्या कर सकते है |

दोस्तों आज हम लोग आराम से घूम रहे है और कुक भी कर रहे है तो राजेश जैसी बहादुर सिपाही की बदौलत | हम सब लोगो का यही काम है की हम लोग भी फौजी भाई और उनके परिवार वालो की मदद करनी चाहिए |

यह कहानी हमको हर्ष जी ने सेंड किया है और यह कहानी उनके बड़े भाई की है | अगर आप भी कोई कहानी हमारी वेबसाइट पर फ्री मे पब्लिश करवाना चाहते है तो हमें prajapatidk1992@gmail.com मेल करे |

Share Button
loading...

Related posts

Leave a Comment