मानव जब जोर लगाता है , पत्थर पानी बन जाता है |

hard work motivational article
Share Button

मानव जब जोर लगाता है , पत्थर पानी बन जाता है |हम सब लोग यह जानते है की अगर इंसान कोई भी काम को ठान ले तो वह कर सकता है | लेकिन अगर वह काम मन से किया जाये तो और अच्छा होता है |आप लोगो को मैं एक उदहारण देता हूँ की जैसे की रसी के बार – बार घिसने से कुवा पर निसान बन जाता है | लेकिन यह काम एक बार करने पर कभी नहीं होता है | इसके लिए आप को लगातार लगना पड़ता है तभी आप कुछ कर सकते हो |

हिटलर का नाम तो आप ने सुना ही होगा , उसने एक बहुत ही अच्छा बात बोला था की अगर आप को रेस जीतना है तो पहले उसमे भाग लेना सीखो | जो रेस मे पार्टिसिपेट नहीं करता है वो रेस कभी नहीं जीत सकता है |हिटलर की बात बिलकुल सही है , अगर आप जीवन मे लड़ना नहीं सीखोगे तो आप कभी भी जीवन मे आगे नहीं बाद सकते हो |

हम सब मे बहुत लोग है जो तब तक संघर्ष करते है जब तक उनको उनकी मंजिल नहीं जाती है और कुछ लोग है जो थोड़ा परेशानी होने पर ही हार मान कर छोड़ देते है | जीवन मे आप को अपने लिए खुद लड़ना पड़ता है तभी आप कुछ कर सकते हो , दुसरो के सहारे तो कमजोर लोग लड़ते है |

जो इंसान अपने जीवन मे परेशानी नहीं देखता है वह इंसान जीवन को सही से समझ ही नहीं पाता है और कभी जब मुसीबत आती है तो खुद का खुद हार मान जाता है | इसलिए इंसान को दोनों पहलु मे जीना सीख लेना चाहिए |

जीवन मे तब तक लड़ो जब तक आप को अपनी मंजिल मिल न जाये |

1- में तो ज्ञान का प्यासा हूँ

2- एक चित्रकार की दर्द भरी कहानी

3- क्या आप को पता है की आध्यात्मिक सुंदरता बाहरी सुंदरता से बड़ी है

4- सुबह शाम की हवा लाख रुपये की दवा

5-  लंदन के राष्ट्रपति लार्ड वेलिंगटन के सफलता की कहानी

Share Button
loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment