परोपकार का सुख – इंग्लैंड की महारानी की कहानी – England Queen Story In Hindi

Share Button

ये बात इंग्लेंड की है , उस समय इंग्लेंड का राजा सप्तम अद्वर्ड था उसकी पत्नी का नाम अलेग्ज़ॅंड्रा था. वह विनम्र और मधुर स्वभाव की महिला थी,यही नही वह मेहनती भी खूब थी ,बचपन से ही ये गुर उनमे मौजूद था ! एक टाइम भी वह अपना बर्बाद नही करती थी!

पिता और पुत्र की रोचक कहानी

विवाह के बाद उनकी सुख सूबिधा और बड़ा दी गयी ,हर काम के लिए नौकर थे ,यह एक प्राब्लम सी उन के सामने खरी हो गयी क्यूकी उनको चुप चाप बैठना पसंद नही था , काफ़ी सोच विचार कर उन्होने अपने लिए एक काम सर्च कर लिया !

वह ग़रीबो के लिए बहुत सारे ज़रूरत के समान खुद बनती थी और उन के बीच जाकर खुद अपने हाथो से उनको दान देती थी, अब रानी को खाली टाइम नही मिलता था और वह बहुत बिज़ी भी रहती थी!

एक भिखारी की दर्द भरी कहानी

दरअसल परोपकार के काम से जो आत्मिक सुख मिलता , वह सुख उसे कभी विलास और सूबिधा सामग्री मे नही मिला !

दोस्तो इस कहानी से हमे यही सीख मिलता है की हमे अपना टाइम बर्बाद नही करना चाहिए !

Share Button
loading...

Related posts

One thought on “परोपकार का सुख – इंग्लैंड की महारानी की कहानी – England Queen Story In Hindi

  1. हमेशा की तरह एक और बेहतरीन लेख ….. ऐसे ही लिखते रहिये और मार्गदर्शन करते रहिये ….. शेयर करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। 🙂 🙂

Leave a Comment