साहस और हिम्मत – एक गधे और भेड़िये की कहानी

gadhe ke kahani
Share Button

अगर आप के पास हीम्मत और संघर्ष करने का जूनून है तो आप को कभी भी निराश होने की जरुरत नहीं है | कभी – कभी हमारे जीवन मे ऐसा होता है की हम लोग टूट जाते है या डर कर भाग जाते है | यह मानव जीवन ऐसा ही है कभी दुःख और कभी सुख लगा रहता है | लेकिन हममे से बहुत लोग है जो लोग दुःख पड़ने पर भाग जाते है , हम लोगो को इसका डट कर सामना करना चाहिए | यह कहानी सुनकर आप लोग जरुर मोटीवेट होगे |
एक घने जंगल मे एक गधा घास चर रहा था , अभी एक भेड़िया आया और सोचने लगा कितना अच्छा गधा है आज मे इसका सीकार करूँगा और चार – पाच दिन इसका मांस खाऊंगा | गधे ने जब भेड़िया को देखा तो वह बहुत ही ज्यादा डर गया और सोचने लगा की अब मे क्या करू | भेड़िया गधे की तरफ ही जा रहा था , लेकिन गधा डरा नहीं और बहुत ही हीम्मत से काम लिया | भेड़िया जब गधे के पास पंहुचा तो बोला – आज मे तुम्हारा शीकार करूँगा , तो गधे ने बोला मुझको पता है | यह सुनकर भेड़िया बोला तुमको कैसे पता है , गधे ने बोला कल भगवान् जी मैरे सपने मे आये थे उन्होंने ने ही बोला था की कल कल एक बहुत ही दयालु जानवर आकर तुम्हरा शीकार करेगा और तुमको इस दुनिया से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जायेगी |

मंदिर के पुजारी की कहानी

यह सुनकर भेड़िया ने बोला – तुम ने एक दम बिलकुल सही सपना देखा है , आज मे तुम को मार कर खाऊंगा | यह सुनकर गधे ने बोला मरने से पहले मेरी आख़री इच्छा है | भेड़िये ने बोला – क्या है तुम्हरी आख़िरी इच्छा |
गधे ने बोला – मेरे पैर में एक काटा चुभ गया है , में चाहता हूँ की तुम उसको निकाल दो |
भेड़िया ने बोला क्यों नहीं और जैसी ही वह काटा निकालने गधे की पीछे गया , गधे ने जोर से एक लात उसके मुँह पर मारा और बहुत ही तेजी सी वहाँ से भाग गया और अपनी जान को बचा लिया |

तो दोस्तों यह कहानी आप लोगो को बहुत कुछ सीखा रही है , अगर आप हिम्मत से काम लोगे तो हमेशा आप खुश रहोगे | कहानी आप लोगो को कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताये |

युवा मन का दर्द – एक रोचक कहानी

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment