चोर और बूढ़ी माँ की कहानी – Moral Hindi Story

budhe ma ke kahani
Share Button

हम सब लोग कभी – कभी बहुत ही घबरा जाते है और अनजाने मई पता नहीं क्या – क्या करने को सोच लेते है । आज मै आप लोगो को ऐसी कहानी बता रहा हूँ जो आप लोगो को सोचने पर मजबूर कर देगा ।

एक बहुत ही बूढ़ी माँ थी और उसका एक बेटा था ,जो की अपनी माँ के साथ ही रहता था । एक दिन की बात है वह बूढ़ी माँ सो रही थी तभी घर मे कुछ चोर घुस गए । चोरो को लगा की सब लोग सो रहे है लेकिन उनको यह नहीं पता था की बूढ़ी माँ सो नहीं रही है । बूढ़ी माँ बहुत ही ज्यादा उम्र की होने की वजह से उठने मे परेशानी होती थी । चोरो को घर मे घुसता देख बूढ़ी माँ ने बोला बेटा तुम लोग कहा जा रहे हो । तुम लोगो को पता है की तिजोरी की चाभी दूसरे वाले कमरे मे है और तुम लोग यहाँ ढूढ़ रहे हो । मुझको लगता है की तुम लोग बहुत ही अच्छे घर के लग रहे हो और मेरी बात को जरूर ध्यान से सुनोगे ।बूढ़ी माँ की बात सुनकर चोरो का मन पिघल गया और वो लोग उसके पास जाकर बैठ गए और बोलो बूढ़ी माँ आप हमसे क्या कहना चाहती हो ।

नया सवेरा – एक अशिक्षित गावं की कहानी

बूढ़ी माँ ने कहा आज मैं तुम लोगो को ऐसी कहानी बताउंगी जिससे तुम लोग कुछ न कुछ जरूर सीख जावोगे । सब चोर बहुत ही मन लगाकर बूढ़ी माँ की बात को सुन रहे थे ।
बूढ़ी माँ ने बोला – बहुत समय पहले की बात है मैं एक बार रेगीस्तान मे फस गयी थी और जोर – जोर से चिलाने लगी ।

चोरो ने पूछा आप कैसे चिल्ला रही थी ।

कोयल और बगुला की कहानी

तभी बूढ़ी माँ ने चिल्ला के बोला अरे भगवान् आज मुझको बचा लो , बूढ़ी माँ की यह बात सुनकर बगल के कमरे मे सो रहे बूढ़ी माँ का बेटा जाग गया और देखा की कुछ लोग उसकी माँ के पास बैठे थे और वह चिल्ला रही थी । भगवान बूढ़ी माँ के बेटे का नाम था और अपनी माँ की बात सुनकर वह अपने गावं के कुछ लोगो को लेकर आया और उन चोरो को खूब पीटा और बोला ऐसा अब मत करना कभी भी ।
जाते समय सारे चोरो ने उस बूढ़ी माँ का पैर छुआ और निकला गए ।

आत्महत्या को क्यों कायरता कहा जाता है ।

इस कहानी से हम लोगो को यही सीख मिलता है की अगर आप के अन्दर चालाकी और सब्र है तो आप को परेशानी मे बहुत ही सब्र से काम लेना चाहिए ।अगर आप लोगो को यह कहानी अच्छी लगी हो तो कमेंट और शेयर जरूर करे ।

Share Button
loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment