दूसरों की मदद कैसे करे | How To Help Everyone

दूसरों की मदद कैसे करे | How To Help Everyone
Share Button

गोपाल एक बहुत ही बिजी इंसान था , लेकिन उसको इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था की कोई मरे या जीए | वह बस अपने ही मस्त रहता था और हमेसा ही दुसरो को गाली सुनाता रहता था | बड़े दिन हो गया था और वह अपनी पत्नी के साथ कही बाहर नही गया और ऑफिस के काम से बोर हो गया था फिर क्या था ऑफिस से दो दिन की छुट्टी लेकर उसने प्लान बनाया की आज वो अपनी पत्नी के साथ बाहर डिनर के लिए जायेगा…

Share Button
Read More

राजा और गमले की कहानी |ईमानदारी का फल |

राजा और गमले की कहानी |ईमानदारी का फल |
Share Button

बहुत ही समय पहले की बात है एक राजा था जो की बहुत ही ईमानदार था और अपनी सी ईमानदारी के लिए उसकी प्रजा उसको भगवान् मानती थी | लेकिन राजा अब बूढ़ा हो चूका था और उसको कोई संतान नहीं थी और वह यही सोचता था की कौन उसका उत्तराधिकारी बनेगा | समय बहुत तेजी से बदल रहा था और राजा ने सोच ही लिया की इस राज्य के ही किसी को उत्तराधिकारी बनाऊंगा | इसके लिए राजा ने अपने राज्य के सभी होनहार बच्चो को बुलाया और बोला…

Share Button
Read More

रेगिस्तान के खजाने की कहानी |

रेगिस्तान के खजाने की कहानी |
Share Button

इंसान अगर सोच ले की कुछ करना है तो उसको कोई भी रोक नहीं सकता है | बहुत ही पुरानी बात है दो दोस्त थे उनको कुछ अलग करने का हमेसा सौक चढ़ा रहता था | उसी नगर में एक राजा रहता था , जहा पर ये दोनों दोस्त रहते थे | राजा अपनी प्रजा को खुश देखने के लिए कुछ भी करने को तैयार था , एक दिन की बात है राजा को पता चला की राजस्थान के रेगिस्तान में सोना का ढेर है | राजा सुनकर बहुत ही…

Share Button
Read More

एक जंगली डाकू की प्रेरक कहानी |

एक जंगली  डाकू की प्रेरक कहानी |
Share Button

बहुत सारे लोगो को मैंने यह कहते हुए सुना है की , जो कुछ मैं कर रहा हूँ वह अपने परिवार के लिए कर रहा हूँ | चाहे वह चीज गलत ही क्यों न हो , एक बात तो साफ़ है जो इंसान जो कर्म करात है फल उसी को मिलता है | बहुत पुरानी बात है , एक बहुत ही घाना जंगल था | उस जंगल में बहुत सारे डाकू रहते थे , लेकिन उनमे से एक डाकू बहुत ही खतरनाक था | उस डाकू का नाम अंगुलीमाल था…

Share Button
Read More

धोबी का कुत्ता न घर का और न घाट का |सीख देने वाली कहानी

धोबी का कुत्ता न घर का और न घाट का |सीख देने वाली कहानी
Share Button

आज की कहानी बहुत ही मोटिवेशनल है | दीपक नाम का एक लड़का था जो की फूटबाल बहुत ही अच्छा खेलता था , लेकिन उसका मन कही एक जगह तो लगता ही नहीं था | वह वही काम बहुत ज्यादा करता था , जो दूसरे लोग करते थे | कभी वह फूटबाल खेलता था और कभी वह क्रिकेट खेलता था , उसको खुद नहीं पता था की करना क्या है और होना क्या है |एक दिन की बात है की कुछ दोस्त न्यूज़ पेपर लेकर पढ़ रहे थे , उसमे…

Share Button
Read More

कर्म और भाग्य की कहानी | Inspirational Story In Hindi

कर्म और भाग्य की कहानी | Inspirational Story In Hindi
Share Button

इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग है जो अपने काम करने के तरीके को अलग से करते है| कुछ लोग है जो मेहनत को काम वैल्यू देते है और कुछ लोग है जो भाग्य को ही सबकुछ समझते है | एक बहुत ही घना जंगल था उसमे एक महात्मा जी रहते थे , जंगल एक नदी के बीच में था और नदी के दोनों किनारो पर दो राजा रहते थे | दोनों राजा एक दूसरे के दुसमन थे , दोनों एक दूसरे को देखना पसंद नहीं करते थे |…

Share Button
Read More

समय का इंताजर – गौतम बुद्ध जी की कहानी |

समय का इंताजर – गौतम बुद्ध जी की कहानी |
Share Button

हम सब लोगो के जीवन में अच्छे और बुरे दोनों समय आते है | बस जरुरत होती है हर चीज को सही से समझ लेने की | बहुत ही पुराणी बात है एक गुरु जी थे जो की अपने शिष्यों को लेकर ज्ञान का प्रचार करने के लिए एक बहुत ही अजीब गांव में चले गए | उस गावँ में गुरु जे अपने कुछ शिष्यों को लेकर लोगो के बीच अपने ज्ञान और अनुभव को साझा किया | गुरु जी को पैदल ही चल कर ज्ञान का प्रचार करना था…

Share Button
Read More

भक्त नीलांबरदास और मल्लाह की कहानी |

भक्त नीलांबरदास  और मल्लाह की कहानी |
Share Button

भगवान जगन्नाथ के भक्त नीलांबरदास रहते तो उत्तर प्रदेश में थे, किंतु उनका हृदय उड़ीसा के जगन्नाथ भगवान ने चुरा लिया था।एक दिन धन-संपत्ति, स्त्री-पुत्र सबको ठोकर मार जगन्नाथ भगवान के दर्शन के लिए निकल पड़े।चलते-चलते गंगा तट पर पहुँचे, एक मल्लाह बीच गंगा में नौका पर बैठा मछली पकड़ रहा था।नीलांबरदास ने उसे पुकारा और बोले- भाई ! मुझे गंगा पार करा दो, भाड़े की चिंता न करना। मल्लाह लालची था, उसने सोचा यात्री के पास काफी धन है, वह नौका किनारे ले आया। नीलांबरदास भगवान जगन्नाथ के नाम…

Share Button
Read More

एक सोच बदलने की जरुरत है ।

एक सोच बदलने की जरुरत है ।
Share Button

अभी-अभी व्हाट्सएप पर एक मैसेज मिला, बेहतरीन लगा इसलिए…… “मेरे आगे वाली कार कछुए की तरह चल रही थी और मेरे बार-बार हॉर्न देने पर भी रास्ता नहीं दे रही थी। मैं अपना आपा खो कर चीखने ही वाला था कि मैंने कार के पीछे लगा एक छोटा सा स्टिकर देखा जिस पर लिखा था “शारीरिक विकलांग; कृपया धैर्य रखें”!और यह पढ़ते ही जैसे सब-कुछ बदल गया!! मैं तुरंत ही शांत हो गया और कार को धीमा कर लिया। यहाँ तक कि मैं उस कार और उसके ड्राईवर का विशेष खयाल…

Share Button
Read More

त्याग का परिणाम |कहानी एक बार जरूर पढ़े |

त्याग का परिणाम |कहानी एक बार जरूर पढ़े |
Share Button

ललित आज बहुत उत्साहित और ख़ुश था, उसे ट्यूशन पढ़ा के जो पैसे मिलते थे उनमे से और उसे मिलने वाले थोड़े से जेबखर्च में से कुछ बचा के पिछले दो साल में उसने लगभग 20 हज़ार रुपये इकठ्ठे कर लिए थे, अब एक नया स्मार्टफोन लेने की उसकी काफी समय से चली आ रही इच्छा पूरी होने वाली थी। अभी तक तो वो पुराने 1600 रुपये वाले फ़ोन से ही काम चला रहा था, जो उसे पिताजी ने ये कह के दिलवाया था कि ‘कॉल हो जाए… बहुत है,…

Share Button
Read More

संघर्ष बेटी का – दिल को छू लेने वाली सच्ची कहानी

संघर्ष बेटी का – दिल को छू लेने वाली सच्ची कहानी
Share Button

किसी की आप बीती # संघर्ष बेटी का # समझ नही अाता कहा से शुरू करू मेरे संघर्ष की कहानी  ये संघर्ष लडकी होने के नाते किया खासकर पढाई के लिये. इस लिये में share करना चाहती हूँ ताकी ओर लोग इससे प्रेरित हो सके.मेरा जन्म UP के छोटे से गांव मे एक ऐसे परिवार में हुआ था जहा बेटो को ज्यादा अहमियत दी जाती है बेटी से .जब से होश संभाला हर छोटी छोटी चीज के लिये समझोते किये बेटे की हर फरमाइश पूरी हो जाती ,जब की मेरी…

Share Button
Read More

फैक्टरी में काम करने वाले मजदूर की इमोशनल कहानी

फैक्टरी में काम करने वाले मजदूर की इमोशनल कहानी
Share Button

हम सब लोग अपने आप में इतना मस्त है की हम लोगो को यह भी नहीं पता होता है की मानवता नाम की भी कोई चीज होती है । आज मैं आप लोगो को एक ऐसी ही कहानी सुना रहा हूँ , जिसको सुनकर आप का मन एक दम सोचने पर मजबूर हो जायेगा । करन एक चॉकलेट बनाने वाली कंपनी में काम करता था , एक दिन की बात है उसको काम पूरा करते – करते लेट हो गया और वह उस कमरे में पहुंच गया जहा पर सारी…

Share Button
Read More

जब पापा की आँखे भर आयी | छोटी बच्ची और गोल गप्पे वाले की कहानी

जब पापा की आँखे भर आयी  | छोटी बच्ची और गोल गप्पे वाले की कहानी
Share Button

पापा के पास बस दस रूपया ही बचा था , उनको घर भी जाना था जो पैसा किराये में लग जाता । सामने एक बहुत ही अच्छा बंदा था जो की गोल गप्पे बेच रहा था । मैंने अपने पापा से जिद कर दिया और उनसे बोला मुझको गोल गप्पे खाने है । मै भी साथ में खड़ा था और सब कुछ देख रहा था । लड़की के पापा ने पूछ लिया भाई पांच रुपए के दस मिल जायेगा .गोल गप्पे वाले ने बोला नहीं मिलेगा । इतने में सिर्फ…

Share Button
Read More