गावं से शहर की ओर – एक अनोखी कहानी

गावं से शहर  की ओर – एक अनोखी कहानी
Share Button

बहुत समय पहले की बात है एक किसान था , जो की अपने घर पर ही रहता था और खुश नहीं था । उसके खुश न रहने का कारन यह था की वह हमेसा अपने गावं से परेशान रहता था और उसको लगता था की यह गावं एक जंगल है और वह इस जंगल में अकेला रहता है । समय कुछ और बीता तो उसको एक सुझाव आया की क्यू न अपना सबकुछ बेच कर शहर में जाकर एक आलिशान घर लेकर रहू । फिर क्या था उसका एक दोस्त…

Share Button
Read More

नया सवेरा – एक अशिक्षित गावं की कहानी

नया सवेरा – एक अशिक्षित गावं की कहानी
Share Button

`लहर गावं के  लोग बहुत ही सीधे साधे थे | पढ़ाई – लिखाई से कोसो दूर , उनके लिए कला अक्षर भैंश बराबर था |साहूकार उनकी इस कमजोरी का फायदा उठा रहा था , कहने को वह साहूकार था लेकिन बहुत ही लालची था |जरुरत पड़ने पर वह गावं वालो के घर- जमीं आदि गिरवी रख कर उच्ची ब्याज दर पर रकम उधार दे देता था | झूठी लिखा पढ़ी पर वह उनसे अंगूठा लगवा लेता था , एक बार उधार ले लेने पर गावं वाले उसके कर्ज से हमेसा…

Share Button
Read More

एक चित्रकार की दर्द भरी कहानी – A Artist Real Story

एक चित्रकार की दर्द भरी कहानी – A Artist Real Story
Share Button

दोस्तों आज हम आप लोगो को एक चित्रकार की रियल स्टोरी बता रहा हु , बहुत समय की बात  है Agra के पास एक चित्रकार रहता था , वो बहुत ही अच्छा चित्र बनता था , उसकी कला बहुत ही प्रसिद्ध थी , सब लोग उसकी प्रसंसा करते थे , एक दिन उसने  सोचा क्यों न अपने आप को लोगो के बीच ले जाऊ और अपने कला की कमियों को दूर करू ,फिर उसने अपने एक अच्छी सी फोटो उठा ली और उस पर लिख दिया की फोटो मे कमिया…

Share Button
Read More

एक औरत और तीन साधु की कहानी

एक औरत और तीन साधु की कहानी
Share Button

बहुत समय पहले की बात है , एक औरत थी जिसका एक छोटा सा घर था और उस घर में उसके दो बच्चे और अपने पति के साथ रहती थी । एक दिन की बात है की वह बाहर जा रही थी , तभी उसको अपने घर के सामने तीन रंग बिरंगे साधु दिख गए । उनको देख कर वह कुछ भी बोली नहीं और  चुप – चाप जाने लगी , तभी उनमे से एक साधु ने बोला क्या हमको आप के घर में खाना मिलेगा । वह बोली क्यों…

Share Button
Read More

कैसे पैसे की लालच इंसान को पागल बना देती है

कैसे पैसे की लालच इंसान को पागल बना देती है
Share Button

हम सब लोग आज बहुत ही तनाव में जीवन बीताते है और हमेसा अपने जीवन को लेकर चिंता में पड़े रहते है की जीवन में क्या होगा | लेकिन इन सब के बीच में हम यह भूल जाते है की जीवन सिर्फ और सिर्फ पैसा कमाने के लिए नहीं bana है , लेकिन आज कल के लोग न इस बात को समझ नहीं पा रहे है | हर कोई यही चाहता है की सफल कैसे हो और वो भी ज्यादा पैसा कमाने वाली सफलता कब मिलेगी | कोई यह नहीं…

Share Button
Read More

मुसीबत का सामना कैसे किया जाये ?

मुसीबत का सामना कैसे किया जाये ?
Share Button

एक बहुत ही घना जंगल था और उस जंगल मैं बहुत सारे जानवर रहते थे | एक समय की बात है की कुछ जानवरो को झुण्ड जंगल की तरफ आ रहा था , तभी उनमे से एक छोटे जानवर ने बोला इस जंगल में मुझको सिर्फ शेरो से ही डर लगता है | इस पर एक हाथी ने बोला ऐसा क्यों ? उस छोटे जानवर ने बोला शेर बहुत खतरनाक होते है और मुझको मार कर खा जायेंगे , इसलिए शेर के आते ही मैं भाग जाऊंगा बहुत ही तेज…

Share Button
Read More

जाने गुरु पूर्णिमा क्यों मनाया जाता है ?

जाने गुरु पूर्णिमा क्यों  मनाया जाता है ?
Share Button

गुरु पूर्णिमा हमारे देश की एक बहुत ही अच्छी परम्परा है | बहुत ही पुराने समय से चली आ रही यह परम्परा गुरु और उसके शिष्य की है | हम सब लोग को यहाँ पता है की बिना गुरु के ज्ञान मिलना बहुत ही मुश्किल है | तो गुरु पूर्णिमा को हम सब लोग अपने गुरु के लिए ब्रत रकते है और उनका आशीर्वाद लेकर अपने जीवन को धन्य बनाते है | गुर गोविन्द दोउ खड़े , काके लगे पाँव , बलिहारी गुरु आप ने गोविन्द दियो बताय | कभी…

Share Button
Read More

एक राजा के कीमती हार की कहानी

एक राजा  के कीमती हार की कहानी
Share Button

बहुत समय पहले की बात है एक राजा था और बहुत ही दयालु था और अपनी प्रजा की हर बात को मानता था | राजा के पास एक हार था जो की उनकी माँ ने मरने से पहले उनको दिया था और बोला था बेटा इसको बहुत ही समाहल कर रखना | एक दिन की बात है राजा को उसकी माँ की याद आ रही थी और वह अपने माँ के दिए हुए हार को देखने के लिए महल मे गया , लेकिन उसको यहाँ पर कोई हार नहीं मिला…

Share Button
Read More

कबीर जी और उनके गुरु की तर्क कहानी

कबीर जी और उनके गुरु की तर्क कहानी
Share Button

कबीर जी जिनके दोहों में बहुत ही गहरा प्रेरणादायक सार छुपा है, ये वाक्या कबीर जी और उनके गुरु जी के साथ हुआ। इससे हमें सामाजिक प्रथाओं के बारे में ज्ञान होगा, कि कुछ प्रथाओं का महत्व नहीं होता। लेकिन ये पूर्वजों से चली आ रही हैं, इसी कारण हम भी इस तरह की प्रथाओं को मानते है। कोयल और बगुला की कहानी एक दिन कबीर जी के गुरु ने कबीर जी से कहा की श्राद आने वाले है, मैं पितरों को भोजन करवाना चाहता हूॅं। तुम जाओ और खाने-पिने…

Share Button
Read More

कैसे दुसरो के लिए जीना सीखे – बदलाव एक अनोखी कहानी

कैसे दुसरो के लिए जीना सीखे  – बदलाव एक अनोखी कहानी
Share Button

आज मैं आप लोगो को एक ऐसी कहानी बता रहा हू जो आप को दूसरो के लिए जीने की प्रेरणा देगी | एक लडकी थी जो बहुत ही मोटी थी और हमेशा अपना वजन कम करना चाहती थी , लेकिन कर नहीं पाती थी | वह बहुत ही आलशी थी और हमेशा अपने ही भले के बारे मे सोचा करती थी , अपने बढे हुवे वजन को कम करने के लिए उसने रोज सुबह – सुबह दौड़ लगाना सुरु कर दिया | जैसा करोगे वैसा ही भरोगे – घमंडी मेंढक…

Share Button
Read More

जैसा करोगे वैसा ही भरोगे – घमंडी मेंढक की कहानी

जैसा करोगे वैसा ही भरोगे  – घमंडी मेंढक की कहानी
Share Button

बहुत ही समय पहले की बात है एक मेढक और एक चूहा दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त थे , दोनों इतने गहरे दोस्त थे की एक दुसरे के बिना जिन्दा नहीं रह सकते थे | दोनों किसी भी समय अलग नहीं होना चाहते थे | एक दिन दोनों ने तय किया की अब हम लोग हमेशा एक साथ ही जियेंगे और एक साथ ही मरेंगे | दोनों ने रस्सी से एक दुसरे को बाँध लिया और साथ मे ही रहने लगे |  मंदिर के पुजारी की कहानी वक़त बीतता गया…

Share Button
Read More

बूढी माँ की सुई – एक कहानी जो आप का जीवन बदल सकती है

बूढी माँ की सुई – एक कहानी जो आप का जीवन बदल सकती है
Share Button

एक बार की बात है एक गावँ में एक बूढी माँ रहती थी | वह बहुत ही गरीब थी और बड़ी ही मुस्किल से अपने आप को रखती थी | एक दिन बूढी माँ की सुई गिर गयी और वह रोड के लाइट मे आकर सूई को ढूढने लगी , तभी वहा से एक आदमी जा रहा था | उसने बोला अम्मा क्या कर रही हो , अम्मा ने बोला – बेटा मेरी सूई गुम हो गयी है उसी को खोज रही हू | बूढी माँ के साथ वह भी…

Share Button
Read More

कैसे अपनी मुश्किल काम को आसान बनाये ?

कैसे अपनी मुश्किल काम को आसान बनाये  ?
Share Button

आज टिकू के छुटटी का दिन था और वह अपनी माँ को बहुत जयादा परेशान कर रहा था | उसकी माँ सुनीता जी एक बुक पढ़ रही थी , लेकिन टिंकू बार – बार उनको परेशान करता रहता था | टिंकू का दिमाग बहुत ही तेज था और वह हमेशा कुछ न कुछ किया करता था | आज वह अपनी माँ से बहुत ही ज्यादा सवाल कर रहा था – माँ ये क्या है , कैसे बनता है ? वो दुःख वाले रात जब कोई साथ नहीं देता है –…

Share Button
Read More