मानव जब जोर लगाता है , पत्थर पानी बन जाता है |

मानव जब जोर लगाता है , पत्थर पानी बन जाता है |
Share Button

मानव जब जोर लगाता है , पत्थर पानी बन जाता है |हम सब लोग यह जानते है की अगर इंसान कोई भी काम को ठान ले तो वह कर सकता है | लेकिन अगर वह काम मन से किया जाये तो और अच्छा होता है |आप लोगो को मैं एक उदहारण देता हूँ की जैसे की रसी के बार – बार घिसने से कुवा पर निसान बन जाता है | लेकिन यह काम एक बार करने पर कभी नहीं होता है | इसके लिए आप को लगातार लगना पड़ता है…

Share Button
Read More

एक मास्टरनी की कहानी |

एक मास्टरनी की कहानी |
Share Button

मैं और पिताजी चुपचाप माँ का दैनिक प्रवचन सुन रहे थे, “आप हमेशा उसका पक्ष लेते हैं। विनोद से क्या‌ कहें,वो तो है ही बीवी का गुलाम! एक काम ढंग से नहीं करती, बस पर्स लटकाया और चल दीं स्कूल। हर बात पर जवाब देती है। बहुत तेज़ है मास्टरनी!” मैं समझ नहीं पाती थी कि माँ को क्या खराब लगता है?भाभी का पर्स लटकाना, गलत बात पर जवाब देना या ‘मास्टरनी’ होना? घर के काम करती हैं, सबका ध्यान रखती हैं, फिर भी? 1- में तो ज्ञान का प्यासा हूँ…

Share Button
Read More

बारिश में जब उसकी याद आयी | बीते लम्हे जब याद आते है |

बारिश में जब उसकी याद आयी | बीते लम्हे जब याद आते है |
Share Button

बाहर बारिश हो रही है, झमझमा के, चाय बनाये है बॉलकोनी के बैठ कर चाय पीते हुए देख रहे थे इन बारिश के बूंदों को की अचानक से सब को किनारे करते हुए तुम्हारी याद आ गई, हमेशा की तरह यादों के दरवाजों धकेलते हुए जैसे जी ये आई सब रुक सा गया, बारिश की वो बूंद, चाय से उठती भाप और नीम के पेड़ की पत्तियां सब की सब.लगा जैसे जिंदगी फ़िर उसी मेज़ पर जा कर रुक गयी जहाँ तुम मिले थे मुझसे, बारिश की वो बूंद जो टिकी थी balcony…

Share Button
Read More

एक खुश किस्मत बहू की कहानी |

एक खुश किस्मत बहू की कहानी |
Share Button

मेरी मैरिज तय होने के समय से हीे मोबाइल पर बात होने लगी थी मेरी इनसे, अच्छे लगे थे मुझे ये, सुलझे हुए से….नेक इंसान । मैं अक्सर इनसे पूछती कि अगर मेरी और आपकी मां में कभी कोई झगड़ा हुआ तो आप किसका साथ देंगे, …..इनका जवाब होता ‘पता नहीं’। बस इस एक बात के अलावा मुझे ये बहुत अच्छे लगने लगे थे।जब मैं पहली बार इस घर में आई थी तो बहुत अजीब सा था सब। मेरे घर में सब कितना घुलमिल कर रहते, कभी कभी तो हम…

Share Button
Read More

हमसफ़र क्या चीज है बुढ़ापे में समझ आएगा | कहानी एक बार जरूर पढ़े |

हमसफ़र क्या चीज है बुढ़ापे में समझ आएगा | कहानी एक बार जरूर पढ़े |
Share Button

मुझे अगले संडे को किटी पार्टी में जाना है सुदेश,तुम तो जानते हो मेरी फ्रेंड्स किटी में कितनी सज सवंर कर आती है …और मैंने तो अभी तक भी शॉपिंग नहीं की है….. रागिनी आईना के सामने खड़ी होकर साड़ी के पल्लू अपने कंधे पर सलीके से जमाते हुए बोली…., सुदेश इस बार मैं किटी शॉपिंग के लिए बहुत लेट हो गयी हूँ…. और किटी के बाद मुझे कच्ची बस्ती के बच्चों के पास भी जाना है…वहाँ मैं कुछ न्यूज़ पेपर वालो को भी बुलाऊंगी अगले दिन के न्यूज़ पेपर…

Share Button
Read More

एक सोच बदलने की जरुरत है ।

एक सोच बदलने की जरुरत है ।
Share Button

अभी-अभी व्हाट्सएप पर एक मैसेज मिला, बेहतरीन लगा इसलिए…… “मेरे आगे वाली कार कछुए की तरह चल रही थी और मेरे बार-बार हॉर्न देने पर भी रास्ता नहीं दे रही थी। मैं अपना आपा खो कर चीखने ही वाला था कि मैंने कार के पीछे लगा एक छोटा सा स्टिकर देखा जिस पर लिखा था “शारीरिक विकलांग; कृपया धैर्य रखें”!और यह पढ़ते ही जैसे सब-कुछ बदल गया!! मैं तुरंत ही शांत हो गया और कार को धीमा कर लिया। यहाँ तक कि मैं उस कार और उसके ड्राईवर का विशेष खयाल…

Share Button
Read More

त्याग का परिणाम |कहानी एक बार जरूर पढ़े |

त्याग का परिणाम |कहानी एक बार जरूर पढ़े |
Share Button

ललित आज बहुत उत्साहित और ख़ुश था, उसे ट्यूशन पढ़ा के जो पैसे मिलते थे उनमे से और उसे मिलने वाले थोड़े से जेबखर्च में से कुछ बचा के पिछले दो साल में उसने लगभग 20 हज़ार रुपये इकठ्ठे कर लिए थे, अब एक नया स्मार्टफोन लेने की उसकी काफी समय से चली आ रही इच्छा पूरी होने वाली थी। अभी तक तो वो पुराने 1600 रुपये वाले फ़ोन से ही काम चला रहा था, जो उसे पिताजी ने ये कह के दिलवाया था कि ‘कॉल हो जाए… बहुत है,…

Share Button
Read More

आखिरी मुलाकात हिंदी प्रेम कहानी | यह कहानी आप को जरूर रुला देगी ।

आखिरी मुलाकात हिंदी प्रेम कहानी | यह कहानी आप को जरूर रुला देगी ।
Share Button

बड़ी देर तक दोनों खामोश बैठे रहे , दोनों में में कुछ भी बातें ना हुई .आखिरकार मोहित हंसकर स्नेहा के बाल सहलाने लगा . हाथ झटकते हुए स्नेहा नें कहा, “थोड़ा हद में रहो , I am not your assets..Got it.. मोहित अचंभित होकर स्नेहा को एक टक देखने लगा.फिर अपना हाथ हौले से हटाकर अपने चेहरे को ढाँप लिया . पिछले एक महीने से वो स्नेहा के व्यवहार में एक अजीब सा बदलाव देख रहा लेकिन ये 6 सालो में पहली बार था जब नेहा नें इतना rudely…

Share Button
Read More

संघर्ष बेटी का – दिल को छू लेने वाली सच्ची कहानी

संघर्ष बेटी का – दिल को छू लेने वाली सच्ची कहानी
Share Button

किसी की आप बीती # संघर्ष बेटी का # समझ नही अाता कहा से शुरू करू मेरे संघर्ष की कहानी  ये संघर्ष लडकी होने के नाते किया खासकर पढाई के लिये. इस लिये में share करना चाहती हूँ ताकी ओर लोग इससे प्रेरित हो सके.मेरा जन्म UP के छोटे से गांव मे एक ऐसे परिवार में हुआ था जहा बेटो को ज्यादा अहमियत दी जाती है बेटी से .जब से होश संभाला हर छोटी छोटी चीज के लिये समझोते किये बेटे की हर फरमाइश पूरी हो जाती ,जब की मेरी…

Share Button
Read More

फैक्टरी में काम करने वाले मजदूर की इमोशनल कहानी

फैक्टरी में काम करने वाले मजदूर की इमोशनल कहानी
Share Button

हम सब लोग अपने आप में इतना मस्त है की हम लोगो को यह भी नहीं पता होता है की मानवता नाम की भी कोई चीज होती है । आज मैं आप लोगो को एक ऐसी ही कहानी सुना रहा हूँ , जिसको सुनकर आप का मन एक दम सोचने पर मजबूर हो जायेगा । करन एक चॉकलेट बनाने वाली कंपनी में काम करता था , एक दिन की बात है उसको काम पूरा करते – करते लेट हो गया और वह उस कमरे में पहुंच गया जहा पर सारी…

Share Button
Read More

जब पापा की आँखे भर आयी | छोटी बच्ची और गोल गप्पे वाले की कहानी

जब पापा की आँखे भर आयी  | छोटी बच्ची और गोल गप्पे वाले की कहानी
Share Button

पापा के पास बस दस रूपया ही बचा था , उनको घर भी जाना था जो पैसा किराये में लग जाता । सामने एक बहुत ही अच्छा बंदा था जो की गोल गप्पे बेच रहा था । मैंने अपने पापा से जिद कर दिया और उनसे बोला मुझको गोल गप्पे खाने है । मै भी साथ में खड़ा था और सब कुछ देख रहा था । लड़की के पापा ने पूछ लिया भाई पांच रुपए के दस मिल जायेगा .गोल गप्पे वाले ने बोला नहीं मिलेगा । इतने में सिर्फ…

Share Button
Read More

दो बाजो के उड़ान की कहानी | Eagle Hindi Inspirational Story

दो बाजो के उड़ान की कहानी | Eagle Hindi Inspirational Story
Share Button

एक प्राचीन काल के राजा थे , उनको किसी ने दो बाज के बच्चे को गिफ्ट कर दिया । दोनों बाज के बच्चे बहुत ही सुन्दर थे और राजा को यह तोफा बहुत ही पसंद आया । जिस आदमी ने राजा को यह तोहफा दिया था , उस आदमी को राजा ने कुछ अनमोल सोने का सिक्का दिया और कहा तुम जाओ अब । राजा ने दोनों बाजो को देखने के लिए एक सैनिक को रख दिया , जो की हमेसा उनकी देख – रेख में लगा रहता था ।…

Share Button
Read More

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद के जूतों की कहानी – Dr Rajendra Prasad Story

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद के जूतों  की कहानी – Dr Rajendra Prasad Story
Share Button

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद हमारे देश के प्रथम राष्ट्पति थे | एक बार कई राजयो का दौरा करते हुए वह बिहार पहुंचे तो उनके पैरो मे दरद होने लगा | दरद का कारण जानने पर पता चला की उनके जूतों के तले बहुत घिस गए थे | इसी कारण किले उभरकर पैरो मे लगातार चुभ रहे थे | इसी से उनके पैरो मे दरद हो रहा था | अहिंसक चरमलय् उनके केन्दर से दस मील दूर था | उनके सचिव केन्दर पर पहुंच कर एक जोड़ी जूते लेकर आये | जूते…

Share Button
Read More