वेलेंटाइन डे का इतिहास – Amazing Facts and history of valentine’s day in Hindi

valentines day facts
Share Button

वेलेंटाइन डे का इतिहास-

दोस्तो आज तक हम लोगो ने वैलेंटाइन्स दिवस के बारे मे कभी पता ही नही किया की हम  वैलेंटाइन्स दिवस  क्यू मानते है , लोगो ने इसको एक फेस्टिवल की तरह सेलएबरते करना सुरू कर दिया है | यह एक लव के साथ बलिदान का भी फेस्टिवल है ,आज हम आप को बताते है की हम वैलेंटाइन्स दिवस क्यू सेलेब्रेट करते है_

14 Feb को मनाए जाने वाला यह फेस्टिवल सभी देशो मे अलग -२ तरह से मनाया जाता है |

चीन मे इसको नाइट ऑफ सेवेन्स नाम से सेलेब्रेट किया जाता है , जबकी जापान और कोरिया मे इसको वाइट डे नाम से सेलेब्रेट किया जाता है |

कुछ देशो मे  वैलेंटाइन्स पत्रो को गिफ्ट किया जाता है और कुछ देशो मे फूलो को देकर सेलेब्रेट किया जाता है | 19 सदी मे अमरीका ने अवकाश घोसित कर दिया था लेकिन अब नही है , U. S .ग्रीटिंग कार्ड के अनुसार हर साल १ बिलियन लोग वॅलिंटाइन्स कार्ड एक दूसरे को देते है |

वॅलिंटाइन्स डे संत वेलेंटाइन के नाम पर रखा गया है , कहा जाता है की संत वेलेंटाइन ने  अपने मरने के पहले जेलर की नेत्रहीन बेटी को अपने नेत्र दान कर दिया था और एक पत्र दिया था जिस मे लिखा था तुम्हरा वैलेंटाइन्स , तब से लेकर आज तक इस दिन को वॅलिंटाइन डे के रूप मे सेलेब्रेट किया जाता है |

रोम मे तीसरी सतब्दी मे सम्राट क्लाडियस का सासन था , उनके अनुरूप विवाह करने पर आदमी की सक्ती और बुद्धि कम हो जाती है | उस ने अपने सारे सैनिको को विवाह न करने का आदेश दिया , जिसका संत वेलेंटाइन ने विरूध किया और उसने संत वेलेंटाइन को फासी की सज़ा दे दिया |

तब से आज तक 14 Feb वेलेंटाइन-डे के रूप मे सेलेब्रेट किया जाता है

Share Button

loading...
loading...

Related posts

Leave a Comment