गुलाब के फूलो के बलिदान की कहानी (The story of the sacrifice of roses)

Share Button

गुलाब का फूल बहुत ही अच्छा महकता है और हमेसा खुश रहता है | लाल रंग का गुलाब का फूल प्यार का प्रतीक माना जाता है | लेकिन कभी आप ने ये सोचा है की ये गुलाब कितनी मुश्किल से अपने आप को तने के साथ जिन्दा रखते है | गुलाब का तना अपनी जड़ो से लेकर फूल तक काटो से भरा रहता है फिर भी बहुत ही मुस्कुराता रहता है | उसको कभी भी आप चिंतित नहीं देखोगे , चाहे लाख काटे आ जाये फिर भी वह मुस्कुराना बंद नहीं करता है | गुलाब को हम लोग तोर कर मंदिरो और घरो मे सजा देते है फिर भी वह हम को कुछ नहीं बोलता और हम लोगो की खुशियो के लिए अपना जीवन बलिदान कर देता है |

गुलाब का फूल आयुरवैदिक मेडिसिन बनाने मे भी बहुत ज्यादा मदद गार है | हमारे भारतीय गुलाब को देसी गुलाब भी कहा जाता है , इसका उपयोग परफ्यूम बनाने मे भी किया जाता है | गुलाब का फूल हमारे पर्यावरण को बहुत ही अच्छा बनाये रखता है , जो की मानव जीवन के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है | बहुत सारे लोग है की फूल को तोर कर कही पर भी फेक देते है , हम लोगो को ऐसा नहीं करना चाहिए | हम लोगो को भी उन फूलो से सीख लेनी चाहिए और हमेसा अच्छे कर्म करते हुवे खुश रहना चाहिए | हमारे जीवन मे सुख – दुःख तो आते रहते है लेकिन हम लोगो को उससे घबराना नहीं चाहिए बल्कि हिम्मत से उसका सामना करना चाहिए | जब एक फूल काटो मे खुश रह सकता है तो हम लोग क्यों नहीं रह सकते है | हम लोगो को भी फूलो की तरह लाख संकट आने पर भी भागना नहीं चाहिए और डट कर उसका सामना करना चाहिए |
गुलाब के फूल हमेसा आप को महकाते ही रहते है लेकिन हम मानव उनको हमेशा कस्ट देते रहते है | हम लोगो को अपने अंदर सुधार और फूलो से कुछ सीखने की जरुरत है तभी हम किसी दूसरे के लिए अच्छा कर सकते है | फूल हमारे मानव जीवन के आदर्श है बिना इनके हमारा कोई भी अच्छा काम नहीं होता है और एक हम लोग है की इन फूलो को ही तोर कर फेकते रहते है | अगर आप को हमारी बात अच्छी लगी हो तो इसको खूब शेयर करो |

Share Button
loading...

Related posts

Leave a Comment