घमंडी कुत्ता मोंटू की कहानी – A arrogant dog story in hindi

03_hachi_bluray
Share Button

ग्रीन पार्क में बहुत सारे छोटे बच्चे पढ़ते थे | इंटरवल की घंटी बजते ही सब लोग बाग़ में आकर खड़े हो जाते | वहाँ वे बिस्कुट , केक , ब्रेड और अपने साथ लाई हर चीज मिल बॉट कर खाते थे | जो चीज बच जाते उसको वो वही फेक दिया करते थे | उसी बाग़ में कई पक्षी और एक गिलहरी आकर बच्चो की बची हुवी खा जाया करते थे | कालू कौवा , जूही मैना , टीलू कबूतर और नन्ही सी चिंकी गौरया तो वहाँ हर रोज आते थे |
बच्चे पछियो को रोटी के छोटे – छोटे टुकड़े चुगते हुवे देखते तो उनको बहुत ही मजा आता | यह सब उनके लिए एक तमांश बन गया था , इसलिए बच्चे उनके लिए ज्यादा से ज्यादा चीजे फेका करते थे | सभी पक्षी आपस में बड़े मेल – जोल से रहते थे , कोई भी किसी के काम में रुकावट नहीं डालता था | बल्कि वो आपस में एक दूसरे की सहायता करते थे |
एक दिन अचानक एक काला कुत्ता वहाँ आया , उसका नाम मोंटू था उसने सबको मिल बॉट कर खाते देखा | गिलहरी की नजर जैसे ही कुत्ते पर पडी उसने बोला वहाँ क्यों खड़े हो भाई तुम भी आकर खा लो | पर मोंटू जोर – जोर से भौकने लगा और बोला – निकल जाओ सब यहाँ से अब यह जगह मेरी है | आज के बाद कोई भी यहाँ खाने के लिए आया तो में उसको मार डालूंगा | सारे पक्षी डर के मारे सहम से गए | किंतु गिलहरी ने बोला – मोंटू भैया तुम भी यहाँ आकर खावो | तुम्हारे लिए भी यहाँ खाने की बहुत सारी चीजे है , हमारे दोस्त बन जाओ , पर मोंटू उनकी एक भी नहीं सुना |

मोंटू को गुस्सा आ गया और पक्छियो के बीच में कूद गया | उसने कौए और गौरया को पकड़ने की कोसिस की , लेकिन सब डर के मारे भाग गए | रीना गिलहरी भी पास के पेड़ पर चढ़ गयी | मोंटू बड़ा खुश हुवा और सोचा अब अकेले ही सारा भोजन खायेगा , फिर अकेले ही सारा खाना खा लिया | बेचारे पंछी चुचाप सब देख रहे थे | इस तरह रोज वह अकेले खा – खा कर और मोटा हो गया और उसको खूब घमंड भी हो गया था | इधर बाग़ में पंछियो को न देखकर बच्चॊ ने आना बंद कर दिया |

एक दिन मोंटू खाना खाने में बिजी था की कारपोरेशन के कुत्ता पकड़ने वाले कर्मचारी वहाँ आ गये , उन्हों ने चुपके से पीछे से जाल फेक कर मोंटू को पकड़ लिया और पींजरे वाले ट्रक में ले जाकर बंद कर दिया | मोंटू बहुत रोया लेकिन उसको बचाने कोई नहीं आया , अब वह मन ही मन सोच रहा था यदि उसने पंछियो से दोस्ती रखी होती तो वे कारपोरेशन वालो के आने की खबर उसको बता देते | मोंटू के पकड़े जाने के बाद सारे पंछी फिर से बाग़ में आने लगे | पंछियो को वहाँ आते देख नन्हे बच्चे खुशी से झूम उठे |

Share Button

loading...
loading...

Related posts

6 thoughts on “घमंडी कुत्ता मोंटू की कहानी – A arrogant dog story in hindi

  1. बहुत अच्छी कहानी.

    1. hindibabu

      Thanks Priyanka Pathak

    1. hindibabu

      Thanks Babita Singh For your feedback.

  2. दोस्ती सबसे अनमोल है

  3. बच्चों को रात में सोने के समय सुनाई जा सकने वाली बहुत मनोरंजक, संदेशयुक्त, प्रेरणादायक और सुन्दर कहानियों का अनमोल संग्रह।

Leave a Comment