मतिदास के बलिदान की कहानी – Sacrifice Of Mati Das Story In Hindi

मतिदास के बलिदान  की  कहानी – Sacrifice Of Mati Das Story In Hindi
Share Button

मतिदास का बलिदान औरंगजेब ने गुस्से में पूछाः “मतिदास कौन है?” कौन है मतिदास …???? ….तो भाई मतिदास ने आगे बढ़कर कहाः “मैं हूँ मतिदास। यदि गुरुजी आज्ञा दें तो मैं यहाँ बैठे-बैठे दिल्ली और लाहौर का सभी हाल बता सकता हूँ। तेरे किले की ईंट-से-ईंट बजा सकता हूँ।” ••• औरंगजेब गुर्राया और उसने भाई मतिदास को धर्म-परिवर्तन करने के लिए विवश करने के उद्देश्य से अनेक प्रकार की यातनाएँ देने की धमकी दी। खौलते हुए गरम तेल के कड़ाहे दिखाकर उनके मन में भय उत्पन्न करने का प्रयत्न किया,…

Share Button
Read More

डर इन्सान को कमजोर बना देता है – Guru Bhakti motivational story

डर इन्सान को कमजोर बना देता है  – Guru Bhakti motivational story
Share Button

एक आश्रम था , वहा गुरु जी के कई शिष्य थे | जो गुरु जी के बताए कार्यो को तुरंत कर दीया करते तथा गुरु जी की हर बात  का आदर करते थे | लेकिन सागर नाम का एक शिष्य ऐसा भी था , जो बहुत ही आलसी था , गुरु जी का कोई कार्य नही करता था | प्रतिदिन गुरु जी सागर को समझाते और कहते – चलो तुम अपनी आदत से बाज नही आते तो कोई बात नही …लेकिन मंदिर जाकर भजन आदि तो किया करो, इससे हो…

Share Button
Read More

एक फ़कीर की कहानी – A paralyzed man story in Hindi

एक फ़कीर की कहानी – A paralyzed man story in Hindi
Share Button

एक फ़क़ीर था ,उसके दोनों बाज़ू नहीं थे। उस बाग़ में मच्छर भी बहुत होते थे। मैंने कई बार देखा उस फ़क़ीर को। आवाज़ देकर , माथा झुकाकर वह पैसा माँगता था। एक बार मैंने उस फ़क़ीर से पूछा – ” पैसे तो माँग लेते हो , रोटी कैसे खाते हो ? ” उसने बताया – ” जब शाम उतर आती है तो उस नानबाई को पुकारता हूँ , ‘ ओ जुम्मा ! आके पैसे ले जा , रोटियाँ दे जा। ‘ वह भीख के पैसे उठा ले जाता है…

Share Button
Read More

वेलेंटाइन डे का इतिहास – Amazing Facts and history of valentine’s day in Hindi

वेलेंटाइन डे का इतिहास – Amazing Facts and history of valentine’s day in Hindi
Share Button

वेलेंटाइन डे का इतिहास- दोस्तो आज तक हम लोगो ने वैलेंटाइन्स दिवस के बारे मे कभी पता ही नही किया की हम  वैलेंटाइन्स दिवस  क्यू मानते है , लोगो ने इसको एक फेस्टिवल की तरह सेलएबरते करना सुरू कर दिया है | यह एक लव के साथ बलिदान का भी फेस्टिवल है ,आज हम आप को बताते है की हम वैलेंटाइन्स दिवस क्यू सेलेब्रेट करते है_ 14 Feb को मनाए जाने वाला यह फेस्टिवल सभी देशो मे अलग -२ तरह से मनाया जाता है | चीन मे इसको नाइट ऑफ…

Share Button
Read More

पैसा ही सब कुछ नहीं है – दो दोस्तों की कहानी (Money is not everything – the story of two friends )

पैसा ही सब कुछ नहीं है – दो दोस्तों की कहानी (Money is not everything – the story of two friends )
Share Button

बहुत समय पहले की बात है , दो ऐसे दोस्त थे जो एक दूसरे से बहुत ही प्यार करते थे | दोनों बचपन से ही साथ रहते थे , वक़्त बीतता चला गया और दोनों बड़े हो गए | एक नाम करन था और दूसरे का नाम रमन था , कारन बहुत ही गरीब परिवार का हिस्सा था | जबकी उसका दोस्त रमन बहुत ही अमीर घर से था | दोस्तों बचपन और जवानी दोनों ही जिन्दगी के अजीब पहलु है , बचपन  में सब के पास टाइम होता है ,…

Share Button
Read More

स्वामी विवेकानंद के बचपन की कहानी – Hindi Moral Stories

स्वामी विवेकानंद के बचपन की कहानी – Hindi Moral Stories
Share Button

नरेंद्र पहले से ही बहुत तीब्र दिमाग का था , पढ़ाई में तॆज होने के साथ अव्वल दर्जे का सैतान भी था | दुर्बल बच्चॊ की सहायता करना उसका परम धर्म मानता था |एक बार टीचर क्लास में पढ़ा रहे थे , इधर नरेंद्र ने अपने आस पास बैठे बच्चॊ को खेल कूद की बातो में उलझा लिया | जब टीचर की नजर उस पर पडी तो वो बहुत ही नाराज हुवे , उन्होंने तुरंत पढाये जा रहे सब्जेक्ट से प्रशन पूछना सुरु कर दिया | उनमे से कोई भी…

Share Button
Read More

साधु के क्रोध और प्यार की कहानी

साधु के क्रोध और प्यार की कहानी
Share Button

फरुखाबाद गंगा का तट , आशा के विपरीत एक साधु बहुत देर तक गालियां बकता रहा | जब गालियां बकते -बकते थक गया तो अपने कुटिया के भीतर चला गया | अगले दिन फिर सुबह वही सिलसिला , लोग हैरान रहते की यह कैसा साधु है जो की भगवान् के भजन के बजाय गालियो के प्रवचन करता है |उसकी कुटिया से थोड़ी ही दूर पर एक और कुटिया बनी हुई थी , उसमें एक महात्मा रहते थे | पता चला की वह साधु उन्ही पर गलीयो की बारिश करता था…

Share Button
Read More

क्या आप जानते है गूगल का नाम गूगल क्यों पड़ा (About Google)

क्या आप जानते है गूगल का  नाम गूगल क्यों पड़ा  (About Google)
Share Button

गूगल के बारे मे कुछ बाते आप सब को पता नहीं होगा | जैसे की गूगल का नाम गूगल ही क्यों पड़ा , गूगल के सीईओ का नाम लैरी पेज है | १९९७ मे जब गूगल लांच हुवा था तब इसको बहुत ही कम लोग जानते थे , लेकीन आज गूगल का नाम दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन मे लिया जाता है | आज गूगल की पॉपुलैरिटी इतनी है की सब लोग इसके दीवाने है , हर कोई इसके बारे मे जानता है | 1996 मे एक रिसर्च मे…

Share Button
Read More

एक चोर की सच्ची कहानी ( The true story of a thief)

एक चोर की सच्ची कहानी ( The true story of a thief)
Share Button

बहुत समय पहले की बात है की नंदन गावं में एक चोर रहता था , वह बहुत ही खतरनाक और चालाक चोर था | आज तक उसको कोई भी चोरी करते पकड़ नहीं पाया था | उसका एक बेटा पलटन था वह हमेसा अपने बेटे को अच्छी बात बताता था और जब उसका बेटा पूछता था की पाप सब लोग आप को चोर क्यों बोलते है , तो वह बोलता था बेटा सब लोग गलत बोलते है में ऐसा नहीं हु सब लोग हमारी हर चीज से जलते है |…

Share Button
Read More

एक शराबी की कहानी

एक शराबी की कहानी
Share Button

एक शराबी जो की बहुत ही ज्यादा पीता था | उसके पीने की वजह से उसका घर बर्बाद हो रहा था , घर के सभी लोग उससे बहुत जी ज्यादा परेसान थे | एक दिन उसको किसी आदमी ने एक संत के बारे मे बताया और बोला उनके पास जाओ वो तुम्हारी शराब को छुरा देंगे | वह अगले दिन सुबह उस संत के पास पंहुचा और बोला बाबा मे अपनी शराब से बहुत ही परेसान हो गया हु , इसकी वजह से मेरा घर बर्बाद हो जा रहा है…

Share Button
Read More

पति और पत्नी के बलिदान की कहानी

पति और पत्नी के बलिदान की कहानी
Share Button

रणधीर अपनी पत्नी से बहुत ही प्यार करता था | क्यों न करता उसकी पत्नी बहुत ही सुन्दर थी , उससे ज्यादा सुन्दर और लंबे उसके बाल थे | रणधीर एक छोटी सी नौकरी करता था , बड़ी मुश्किल से उसका गुजारा होता था | रणधीर अपनी वाइफ के बालो को बहुत ही प्यार करता था और हमेसा उसके बालो की तारीफ़ किया करता था | दोनों एक साथ बहुत ही खुश रहते थे और कभी कोई सिकवा नहीं करते थे एक दूसरे से | एक दिन की बात है…

Share Button
Read More

एक भिखारी की दर्द भरी कहानी

एक भिखारी की दर्द भरी कहानी
Share Button

काजल स्कूल में टीचर है और हर रोज बस से अपने कॉलेज आती है और हर दिन बस स्टैंड पर एक भिखारी उसको दीखता रहता था | वह बहुत ही बूढा और लाचार था | उसको देख कर मन में यही विचार आता था की भगवान् उसको अपने पास बुला ले | उसकी आँखे काफी गंभीर थी और कुछ बोलती थी , कुछ लोग तो उसको अच्छे से बात करते थे और कुछ लोग बहुत बुरे से पेश आते थे | समय बीतता गया एक दिन काजल को रहा नहीं…

Share Button
Read More

कबीर जी और उनके गुरु की तर्क कहानी

कबीर जी और उनके गुरु की तर्क कहानी
Share Button

कबीर जी जिनके दोहों में बहुत ही गहरा प्रेरणादायक सार छुपा है, ये वाक्या कबीर जी और उनके गुरु जी के साथ हुआ। इससे हमें सामाजिक प्रथाओं के बारे में ज्ञान होगा, कि कुछ प्रथाओं का महत्व नहीं होता। लेकिन ये पूर्वजों से चली आ रही हैं, इसी कारण हम भी इस तरह की प्रथाओं को मानते है। एक दिन कबीर जी के गुरु ने कबीर जी से कहा की श्राद आने वाले है, मैं पितरों को भोजन करवाना चाहता हूॅं। तुम जाओ और खाने-पिने की वस्तुओं और दूद्ध का इन्तज़ाम करो। कबीर जी ने अपने…

Share Button
Read More